मुख्य पृष्ठ > ई-समाचारपत्रिकाएँ > अकादेमी की पत्रिकाएँ
   


अकादेमी की पत्रिकाएँ



इंडियन लिटरेचर

साहित्य अकादेमी इंडियन लिटरेचर के नाम से अंग्रेज़ी में एक द्वैमासिक पत्रिका का प्रकाशन करती है। सन् 1957 में यह पत्रिका छमाही पत्रिका के रूप में प्रारंभ हुई थी और अब यह अपने प्रकाशन के 57वें वर्ष में है। अंग्रेज़ी में मूल लेखन, पुस्तक समीक्षाओं और साक्षात्कार के अतिरिक्त यह पत्रिका 24 भारतीय भाषाओं में सर्जनात्मक और समालोचनात्मक लेखन के अनुवाद प्रकाशित करती है। हाल में पत्रिका ने विशिष्ट विषयों, भाषाओं, विधाओं और आंदोलनों पर आधारित विशेषांक प्रकाशित करने शुरू किए हैं। यह देश में अंग्रेज़ी में प्रकाशित होनेवाली अपनी तरह की एकमात्र पत्रिका है और इसे भारत में वर्तमान साहित्यिक प्रवृत्तियों के प्रामाणिक प्रतिबिम्बन के साथ-साथ भारत की विगत साहित्यिक समृद्धि के मूल्यांकन का एक माध्यम माना जाता है। इसकी वर्तमान अतिथि संपादक डॉ. ए.जे. थॉमस हैं।

 

सदस्‍यता

 

एक प्रति राशि रु.100/- 15 अमेरिकी डालर (हवाई डाक) 6 अमेरिकी डालर (समुद्री डाक)
एक वर्ष-सदस्यता राशि रु.500/- 75 अमेरिकी डालर (हवाई डाक) 32 अमेरिकी डालर (समुद्री डाक)
तीन वर्ष - सदस्यता राशि रु.1300/- 200 अमेरिकी डालर (हवाई डाक) 90 अमेरिकी डालर (समुद्री डाक)

 

सदस्यता/नवीनीकरण प्रपत्र हेतु क्लिक करें

 


समकालीन भारतीय साहित्य

समकालीन भारतीय साहित्य भारत की प्रमुख साहित्यिक पत्रिकाओं में से एक है, जो भारत के राष्ट्रीय साहित्य संस्थान साहित्य अकादेमी द्वारा साल में छह बार प्रकाशित होती है। 1980 में अपनी शुरुआत से ही पत्रिका ने अपना एक विशिष्ट स्थान बनाया है और इसमें मौलिक हिंदी रचनाओं के साथ मान्यता प्राप्त 23 भारतीय भाषाओं की रचनाओं के अनुवाद प्रकाशित किए जाते हैं। पत्रिका में कहानी, कविता, नाटक, निबंध, आलोचना, बाल साहित्य, पुस्तक समीक्षा आदि विधाओं को व्यापक रूप में स्थान दिया जाता है और यह पाठकीय एवं विद्वत समाज के प्रायः सभी वर्गों के लिए सुरुचिपूर्ण है। विभिन्न भाषाओं के साहित्य पर केंद्रित पत्रिका के विशेषांक भी प्रकाशित किए जाते हैं, जिनमें अतीत, आधुनिक और उत्तर-आधुनिक साहित्य का प्रतिनिधि चयन होता है। समकालीन भारतीय साहित्य के अतिथि संपादक श्री बी.के. त्रिपाठी हैं।

 

सदस्‍यता

 

एक प्रति राशि रु.50/- 10 अमेरिकी डालर/6 ब्रिटिश पाउंड (हवाई डाक)

5 अमेरिकी डालर/3 ब्रिटिश पाउंड

(समुद्री डाक)

एक वर्ष राशि रु.250/- 50 अमेरिकी डालर/30 ब्रिटिश पाउंड (हवाई डाक)

25 अमेरिकी डालर/15 ब्रिटिश पाउंड

(समुद्री डाक)

तीन वर्ष राशि रु.650/- 135 अमेरिकी डालर/85 ब्रिटिश पाउंड (हवाई डाक)

70 अमेरिकी डालर/44 ब्रिटिश पाउंड

(समुद्री डाक)

 

सदस्यता/नवीनीकरण प्रपत्र हेतु क्लिक करें

 


संस्कृत प्रतिभा

साहित्य अकादेमी संस्कृत में एक त्रैमासिक पत्रिका का प्रकाशन करती है, जो संस्कृत में समकालीन लेखन को समर्पित है। इसका शुभारंभ सन् 1959 में वी. राघवन के संपादकत्व में हुआ था। पहले यह अर्द्धवार्षिक रूप से प्रकाशित की जाती थी, लेकिन जनवरी, 2014 से यह त्रैमासिक रूप में प्रकाशित की जा रही है। इसके वर्तमान संपादक डॉ. राधावल्‍लभ त्रिपाठी हैं।

 

सदस्‍यता

 

एक प्रति राशि रु. 40/- 15 अमेरिकी डालर (हवाई डाक)
एक वर्ष-सदस्यता राशि रु. 150/- 50 अमेरिकी डालर (हवाई डाक)
तीन वर्ष - सदस्यता राशि रु. 400/- 130 अमेरिकी डालर (हवाई डाक)

 

सदस्यता/नवीनीकरण प्रपत्र हेतु क्लिक करें

 


आलोक

यह साहित्‍य अकादेमी की राजभाषा गृहपत्रिका है। यह पत्रिका सन् 2002 से प्रकाशित हो रही है, प्रारंभ में यह वार्षिक रूप से प्रकाशित की जाती थी, किंतु सन् 2007 से यह पत्रिका अर्द्धवार्षिक रूप से प्रकाशित की जा रही है। इस पत्रिका में अकादेमी स्‍टाफ़ के सदस्‍यों तथा अकादेमी के सेवानिवृत्‍त कर्मियों की मूल हिंदी में लिखित या दूसरी भाषाओं से उनके द्वारा हिंदी में अनूदित रचनाएँ, पेंटिंग/रेखांकन आदि प्रकाशित किए जाते हैं। इस पत्रिका के प्रकाशन का मुख्‍य उद्देश्‍य हिंदी को अधिकाधिक बढ़ावा देना है। इसके संपादक श्री ब्रजेन्‍द्र त्रिपाठी हैं।